Facebook

Tweeter

News

समृद्ध आदिवासी संस्कृति से परिचित कराने 27 करोड़ से बनाया जा रहा है संग्रहालय: राजेश मूणत



लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत और आदिम जाति विकास मंत्री श्री केदार कश्यप ने आज नया रायपुर स्थित पुरखौती मुक्तांगन में निर्माणाधीन आदिवासी संग्रहालय तथा आदिम जाति अनुसंधान केन्द्र का निरीक्षण किया। लोक निर्माण विभाग द्वारा स्वीकृत 27 करोड़ 26 लाख 61 हजार रूपए की राशि से इसका निर्माण किया जा रहा है।

 लोक निर्माण मंत्री श्री मूणत ने निरीक्षण के दौरान इसके निर्माण में विशेष गति लाते हुए इसे आगामी माह अगस्त के प्रथम सप्ताह तक हर हालत में पूर्ण करने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने इसके लिए संबंधित विभागीय अधिकारियों को आपसी समन्वय बनाकर समयबद्ध ढंग से कार्य करने के लिए विशेष जोर दिया। साथ ही इन्हें निर्माणाधीन कार्य की प्रगति के संबंध में प्रत्येक महीना समीक्षा करने के लिए भी निर्देशित किया। श्री मूणत ने आदिवासी संग्रहालय में दर्शकों की रूचि को ध्यान में रखते हुए यहां सेल्फी-जोन का भी निर्माण करने के लिए आवश्यक निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने भवन के साज-सज्जा, फर्नीचर तथा विद्युतीकरण आदि व्यवस्था को भी समय-बद्ध ढंग से पूर्ण करने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया। श्री मूणत ने अवगत कराया कि इसके निर्माण से छत्तीसगढ़ की समृद्ध आदिवासी संस्कृति से जुड़े प्राचीन धरोहरों से आमजन एवं पर्यटक सहजता से परिचित होंगे।

लगभग 27 करोड़ 27 लाख रूपए की राशि से नया रायपुर में आदिवासी संग्रहालय एवं अनुसंधान केन्द्र भवन कुल पांच हजार 365 वर्गमीटर क्षेत्र में बनाया जा रहा है। इसका बाउण्ड्रीवाल एक हजार 265 मीटर लंबाई का होगा। भवन के आंतरिक मार्ग की लंबाई 2.8 लेन किलोमीटर है। इसमें प्रशिक्षण भवन के भूतल तथा प्रथम तल का निर्माण पूर्ण और द्वितीय तल के निर्माण का 75 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो गया है। इसी तरह वर्तमान में संग्रहालय भवन के भूतल का 90 प्रतिशत प्रथम तल का 75 प्रतिशत और द्वितीय तल का 75 प्रतिशत निर्माण कार्य पूर्ण हो गया है। इस अवसर पर आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास विभाग के विशेष सचिव एवं आयुक्त श्रीमती रीना बाबा साहेब कंगाले, छत्तीसगढ़ सड़क विकास प्राधिकरण के विशेष कर्त्तव्यस्थ अधिकारी श्री अनिल राय सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।