Facebook

Tweeter

Raipur West

रायपुर पश्चिम



मंत्री के प्रयास से क्षेत्र में बह रही विकास की गंगा

सबका साथ - सबका विकास की अवधारणा को कर रहे पूरा

जनप्रतिनिधित्व के हर गुण से परिपूर्ण है मूणत जी का व्यक्तित्व

रायपुर नगर पष्चिम गढ़ रहा विकास के नीत नये आयाम

 

रायपुर। क्षेत्रीय विधायक व छग शासन में वरिष्ठ लोक निर्माण मंत्री राजेश मूणत जी द्वारा कभी पिछड़े कहे जाने वाले रायपुर नगर पश्चिम में बीते 12 वर्षो से विकास के ऐसे नीत-नए आयाम गढ़े जा रहे हैं, जिससे संबंधित क्षेत्र अब विकसित क्षेत्र की बराबरी ही नहीं कर रहा बल्कि व्यवस्थित विकास में अन्य क्षेत्रों के लिए उदाहरण बनकर उभर रहा है। विरासत में मिले क्षेत्र के पिछड़ेपन को चुनौती समझ राजेश मूणत जी ने एक ऐसा व्यवस्थित नगर बनाने का संकल्प लिया है जो सर्वसुविधायुक्त संसाधनों से परिपूर्ण हो। सर्वसुविधायुक्त क्षेत्र की कल्पना मात्र ही सामूहिक विकास की अवधारणा को पूर्ण कर देता है। सामूहिक विकास केवल ढाॅचागत विकास ही नहीं अपितु सामाजिक, आर्थिक, व्यैक्तिक व शैक्षणिक विकास का एक गूढ़ मिश्रण है। इस मिश्रण का अच्छा व बेहतर उदाहरण रायपुर नगर पश्चिम में देखने को मिल रहा है। कभी स्कूलों की कमी से जूझ रहा क्षेत्र आज प्राथमिक, माध्यमिक, हाई स्कूल व हायर सेकेण्डरी शालाओं के निर्माण के साथ ज्ञान की गंगा बहा रहा है। ज्ञान की गंगा में किसी प्रकार का अवरोध न हो अर्थात सभी को शिक्षा प्राप्त हो सके इसके लिए श्री मूणत जी ने सीधे पालकों शिक्षकों व छात्रों से सम्पर्क कर रखा है ताकि वे आवश्कतानुसार उनकी हरसंभव मदद कर सके। संकरे उतार-चढ़ाव और अव्यवस्थित सड़को से पहचान बना चुका गुढ़ियारी रामनगर कोटा आज चैड़ी व व्यवस्थित सड़क से यातायात के बेहतर विकल्प प्रस्तुत कर रहा है। सम्पूर्ण विकास में समाज की उपयोगिता और भूमिका के मद्देनजर श्री राजेश मूणत जी ने सभी समाज की विभिन्न आवश्यकताओं की पूर्ती के लिए भवनों का निर्माण कराया है। वहीं सभी समाज के लोगों को आपस में जोड़े रखने के लिए समय-समय पर सामाजिक समरसता रूपी विभिन्न धार्मिक व सामाजिक कार्यो को पूर्ण कराने में सदैव प्रयासरत रहते हैं। पुरानी व्यवस्था में किसी भी प्रकार का हेर-फेर किये गए बगैर नई व्यवस्था का निर्माण करना जैसे श्री मूणत जी की एक विशेष कला जाहिर होती है। इसका अच्छा उदाहरण हमें रायपुर नगर पश्चिम में ही एक फ्लाईओवर, तीन अंडरब्रिज के होने और एक अंडरब्रिज व एक ओव्हरब्रिज के प्रस्तावित होने मात्र से लगाया जा सकता है। जिसमें उन्होंने पुरानी यातायात व्यवस्था में किसी भी प्रकार का परिवर्तन किए बगैर उसे साथ में लेते हुए अंडरब्रिज व फ्लाईओव्हर जैसी सुविधा उपलब्ध कराई है। जन सेवा को अपना मूल उद्देश्य मानकर बीते 12 वर्षो से निरंतर आमजन की सेवा में प्रयासरत श्री मूणत की लोकप्रियता इसी से लगाई जा सकती है कि वे सत्ता व संगठन दोनों में काफी लोकप्रिय है। एक ओर जहां युवा कार्यकर्ता उन्हें अपना आदर्श मानकर राजनीति में भविष्य अजमा रहे हैं, तो वहीं वरिष्ठ उन्हें एक अच्छे सहयोगी के तौर पर देखते हैं।

 

जिद से क्षेत्र की बदल रही तस्वीर

 

प्रदेश के मुखिया डाॅ. रमन सिंह जी मंत्रीमंडल में अपने सहयोगी लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत जी को कार्य के प्रति निष्ठावान और पूर्ण जिद के साथ कार्य करने वाला मानते हैं। मुख्यमंत्री जी सार्वजनिक सभाओं में यह कहने से चुकते कि श्री मूणत ने अपने जिद और कार्यकुशलता की वजह से ही कभी पिछड़े कहे जाने वाले क्षेत्र रायपुर नगर पश्चिम की तस्वीर और तकदीर बदलने में सफलता अर्जित की है। मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह जी कहते हैं कि यह राजेश का जिद ही है कि वे सरकार कि योजना फिर चाहे वह केन्द्र की हो या फिर राज्य की सबसे पहले अपने क्षेत्र में कर सफलता के कई आयाम गढ़ जाते हैं।

 

जनदर्शन अनवरत जारी

 

मंत्री राजेश मूणत जी जब से विधायक व मंत्री बने हैं तब से वे अपने क्षेत्र की जनता से सीधे संपर्क बनाए हुए हैं। वहीं आमजन भलीभांति अवगत हैं कि वे किसी भी प्रकार की समस्या के लिए उनसे सुबह 9 से 11 बजे के बीच उनके सिविल लाईन स्थित शासकीय निवास में मिला जा सकता है। श्री मूणत जी ने यह भी सुनिश्चित कर रखा है कि यदि वे किसी कारणवश समस्या सुनने के लिए उपलब्ध नहीं हो पाते हैं तो अपने सहायको के माध्यम से आंगतुक के परेशानी का जल्द से जल्द समाधान हो सके इसकी व्यवस्था भी कर दी है।

 

परिश्रम व ऊर्जा का युवा भी मानते हैं लोहा

 

माननीय मंत्री राजेष मूणत जी के परिश्रम और ऊर्जा को आज के युवा भी लोहा मानते हैं। उनमें लगातार चैबीस घंटे कार्य करने की अदम्य शक्ति समाहित है। कई बडे़ आयोजनों में उन्होंने इसका सफलतम परिचय भी दिया है। आयोजनों को बेहतर व यादगार बनाने के लिए वे नींद व आराम को भी त्याग कर कार्य करते हैं। इसके विपरीत अपने सहयोगियों को पूरा आराम मिल सके इसके लिए हरसंभव प्रयास भी करते हैं। श्री मूणत जी को आज सफलता की गांरटी के तौर पर जाना व पहचाना जाता हैै। इन्हीं वजहों से उन्हें राज्य शासन के सभी छोटे-बडे़ समारोह या आयोजन को पूरा करने की जिम्मेदारी दी जाती है।

 

 

कह दिया हाॅ, तो होंगें दुलर्भ कार्य भी पूरे

 

मंत्री राजेष मूणत जी में एक खास बात यह है कि उन्होंने यदि किसी भी कार्य को चाहे वह दुलर्भ ही क्यों न हो आमजन की मांग पर हाॅ कह दिया हो तो वह कार्य किसी भी हाल में पूरा होता है। मंत्री जी कि इस कार्यषैली से न सिर्फ संबंधित विधानसभा की जनता बल्कि पूरा प्रदेष भलीभांति वाकिफ है। उनके इस कार्य करने की शैली को लेकर ही क्षेत्र की जनता हर प्रकार के कार्य को लेकर उनके पास पहुंचती है।

 

प्रधानमंत्री दुर्घटना बीमा योजना में रचा इतिहास

 

भारतीय जनता पार्टी शीर्ष नेतृत्व ने सभी विधायकों को संबंधित क्षेत्र में रक्षा बंधन पर 3 हजार से अधिक माता एवं बहनों को उपहार के रूप के मुफ्त में प्रधानमंत्री दुर्घटना बीमा योजना का लाभ देना सुनिष्चित किया था। इस निर्देष को माननीय मंत्री राजेष मूणत जी चुनौती के रूप में स्वीकार करते हुए पखवाडे़ भर का एक निष्चित कार्ययोजना बनाकर माता एवं बहनों तक प्रधानमंत्री दुर्घटना बीमा का लाभ पहुंचाने का निर्णय लिया। प्राप्त लक्ष्य को तो उन्होंने दूसरे ही दिन पूरा कर लिया, लेकिन वे रूके नहीं श्री मूणत जी ने अपने संवेदनषीलता का परिचय देते हुए हर जरूरतमंद तक योजना का लाभ पहुंचाना चाहा। इसका ही कारण था कि उन्होने क्षेत्र के 40 हजार से अधिक लोगों का बीमा कराने में अभूतपूर्व सफलता अर्जित की।

 

मुद्रा बैंक योजना से हजारों को किया लाभान्वित

 

प्रधानमंत्री मुद्रा बैंक योजना का मूल उद्देष्य छोटे-बडे़ व्यापारियों को अपने व्यापार को बढ़ाने के लिए निम्न दरों पर बगैर किसी गांरटी के ऋण उपलब्ध कराना है। युवा बेरोजगारों को रोजगार व छोटे व्यवसायियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी की यह महत्वकांक्षी योजनाओं में से एक योजना है। इसके क्रियान्वयन को लेकर राजेष मूणत जी ने एक ऐसी व्यवस्था निर्मित की जिसने सफलता के कई परचम गाड़ दिये। अपने सहयोगियों के साथ उन्होंने अपने क्षेत्र में ही लगभग 3 हजार से अधिक लोगों को इस योजना से लाभान्वित करने का ऐतिहासिक कार्य कर दिया। इतना ही वे आज भी सतत् रूप से इस योजना का लाभ हर जरूरतमंद तक पहुंचाने के लिए प्रयासरत हैं।

 

 

 

 

शालाओं से बह रही ज्ञान की गंगा

 

जनजागरूकता व अधिकारों के प्रति सजगता के लिए आवष्यक, षिक्षा के महत्व को समझते हुए मंत्री राजेष मूणत जी नेे रामनगर, सरोना, हीरापुर, डंगनिया में हाईस्कूल व हायर सेकेण्डरी स्कूलों की व्यवस्था करने का सराहनीय कार्य किया है। इन शालाओं के माध्यम से संबंधित क्षेत्र में ज्ञान की गंगा तो बह ही रही है वहीं साक्षर भारत के सपने को यथार्थ में परिणित होते देखा भी जा सकता है। माननीय मंत्री जी ने तकनीक षिक्षा की आवष्यकता व युवाओं के रोजगार को देखते हुए अटारी ग्राम में आईटीआई का निर्माण कराया है। जहां युवा न सिर्फ तकनीकी षिक्षा में दक्ष हो रहे हैं बल्कि रोजगार के बेहतर अवसर से साथ अपना भविष्य गढ़ रहे हैं।

 

 

 

माता-बहनों को स्वावलंबी बनाने भरसक प्रयास

 

स्व सहायता समूहों के माध्यम से माता व बहनों को आत्मनिर्भर व स्वावलंबी बनाने के लिए श्री राजेष मूणत जी भरसक प्रयास कर रहे हैं। वे संबंधित विभागों की विभिन्न योजनाओं से मिलने वाले लाभों को स्व सहायता समूह तक पहुंचानें के लिए किसी भी प्रकार की कसर नहीं छोड़ते हैं। इसके लिए वे स्वयं व सहायकों को जिम्मेदारी देकर माता-बहनों तक सुविधा पहुंचा रहे हैं। साथ ही माता व बहनों को समूह के रूप में एकत्रित कर आपसी सहयोग से कार्य कर आत्मनिर्भरता व स्वावलंबन देने का कार्य करते हैं।

 

बिक्री केन्द्रों की अनुठी व्यवस्था

 

स्व सहायता समूहों द्वारा निर्मित विभिन्न उत्पादों के विक्रय को लेकर श्री मूणत जी ने अनुठी व्यवस्था की है। इसके लिए उन्होंने निष्चित क्षेत्र में दो दर्जन से अधिक समूहों द्वारा निर्मित उत्पाद को विक्रय के लिए बिक्री केन्द्रों की भी स्थापना का जिम्मा लिया है। इसकी शुरूआत उन्होंने रामनगर से की है जहां 20 से अधिक समूह ने श्री मूणत के मार्गदर्षन पर आपस में मिलकर नारी शक्ति विक्रय केंद्र खोला हैै। इस विक्रय केन्द्र में आमजन को रोजमर्रा की आवष्यक चीजें बाज़ार से कम कीमतों पर घर के नजदीक ही उपलब्ध हो जाती है।

 

 

 

स्वास्थ्य को लेकर सदैव गंभीर

 

स्वास्थ्य को लेकर सदैव गंभीर रहने वाले श्री राजेष मूणत जी ने चिकित्सा सुविधा सभी को और तत्काल उपलब्ध हो सके इसके लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र की स्थापना रामनगर जैसे बड़े आबादी वाले क्षेत्र में की है। वहीं पूर्व में स्थित स्वास्थ्य केन्द्रों के सुविधाओं को बढ़ाने का हरसंभव प्रयास किया है। इसी का कारण है की संबंधित क्षेत्र के सभी स्वास्थ्य केंद्र आज बेहतर सुविधा व दवाओं के साथ आमजन की सेवा में लगे हुए हैं। श्री मूणत जी ने क्षेत्र के जरूरतमंद लोगों का बेहतर उपचार हो सके इसके लिए अपने दो सहायकों को इसकी पूरी जिम्मेदारी दे रखी है। जो आवष्यकतानुसार शासकीय व गैर शासकीय अस्पतालों से सम्पर्क कर रोगियों को रोगमुक्त करने का कार्य करते हैं। जल्द ही कोटा में 100 बिस्तर वाले अस्पताल की व्यवस्था को लेकर माननीय मंत्री जी ने प्रयासरत हैं।

 

बड़े-बुजुर्गो के लिए सियान सदन

 

क्षेत्र के वरिष्ठ नागरिकों की जरूरत व आवष्यकता को ध्यान में रखते हुए माननीय मंत्री राजे मूणत जी ने टाटीबंध में सियान सदन नामक सुसज्जित भवन का निर्माण किया है। जहां स्थानीय वरिष्ठ जन न सिर्फ एकत्रित होते हैं बल्कि अपने वर्षो के गूढ़ अनुभवों को साझा करने के साथ ही चर्चा कर सामाजिक उत्थान में अपनी अति महत्वपूर्ण भागीदारी भी सुनिष्चित करते हैं। श्री मूणत जी ने सियान सदन की उपयोगिता और महत्ता को ध्यान में  रखते हुए अपने विधानसभा क्षेत्र में आवष्यकतानुसार सियान सदन बनाने का निर्णय लिया है।

 

शरीर फिट रखने के लिए व्यायाम शलाएं

 

सदैव चुस्त-दुरूस्त रहने वाले ऊर्जावान नेता श्री राजेष मूणत जी युवा व वरिष्ठों के फिटनेस को लेकर भी सदैव चिंतित रहते हैं। इसके मद्देनजर ही उन्होंने अपने क्षेत्रान्तर्गत सरोना जनता काॅलोनी, डंगनिया, टाटीबंध, खमतराई व गुढ़ियारी जैसे आधा दर्जन से अधिक क्षेत्रों में सुसज्जित व आकर्षक जीम का निर्माण कराया है। जहां रोजाना सैकड़ों की संख्या में  युवा व वरिष्ठ जन पंहुच स्वास्थ्य लाभ ले अपने शरीर को फिट बनाए हुए हैं।

 

 

 

 

 

पर्यावरणीय सुरक्षा के लिए गार्डनों की व्यवस्था

 

स्वच्छता व सुरक्षा के लिए पर्यावरणीय संतुलन की महत्ता को समझते हुए प्रत्येक वार्डो मंे उद्यानों की व्यवस्था सुनिष्चित करने का निर्णय श्री मूणत ने लिया हुआ है। वार्डो में जगह देख वे गार्डन की उपलब्धता को वे सदैव प्राथमिकता देते हैं। खमतराई टाटीबंध रामसागरपारा चैबे काॅलोनी सरोना जैसे क्षेत्रों में उद्यान का निर्माण पूरा कर लिया गया है। वहीं कई वार्डो में पूराने बगीचों का जिर्णोद्धार और नये गार्डनों के लिए प्रस्ताव तैयार कर निर्माण को लेकर तैयारी चल रही है।

 

 

इन कार्यो से क्षेत्र की बदली तस्वीर -

 

1.   खमतराई-मोहबा बाजार ओव्हर ब्रिज

2.   गौरव पथ - राजकुमार काॅलेज से टाटीबंध

3.   आयुर्वेदिक काॅलेज से डीडी नगर बाॅयपास रोड

4.   रामनगर में शासकीय हायर सेकेण्डरी स्कूल

5.   बेरोजगारों को लघु ईकाईयों के तहत् रोजगार

6.   रिक्रिएषन पार्क(वंडर लैण्ड)

7.   आॅडिटोरियम सांइस काॅलेज ग्राऊंड

8.   गुढ़ियारी अण्डर ब्रिज

9.   रामनगर रोड चैड़ीकरण

10.  हीरापुर-जरवाय-टाटीबंध मंगल भवन

11.  महादेव घाट सौंदर्यीकरण

12.  अंतर्राष्ट्रीय हाॅकी स्टेडियम एवं स्विमिंग पुल

13.  रेल्वें अण्डर ब्रिज कोटा हीरापुर

14.  ग्रंथालय (लाईब्रेरी)  आयुर्वेदिक काॅलेज