Facebook

Tweeter

News

लोक निर्माण मंत्री की अध्यक्षता में विभागीय समीक्षा बैठक सम्पन्न



 

लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत ने आज राजधानी रायपुर के सिविल लाईन स्थित नवीन विश्राम भवन में विभागीय कामकाज की विस्तार से समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने लोक निर्माण विभाग के अंतर्गत विशेष रूप से मुख्यमंत्री के प्राथमिकता वाले कार्यों को समयबद्ध ढंग से पूरा करने के लिए अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। इसके तहत प्रदेश में 189 सड़क और भवन के कार्य प्रगतिरत है। इनमें सड़क मार्ग संबंधी 154 और भवन निर्माण संबंधी 35 कार्य शामिल हैं। वर्तमान में इनमें से 71 सड़क तथा भवन के निर्माण कार्यों को पूर्ण कर लिया गया है। उन्होंने शेष निर्माणाधीन कार्यों को समय-सीमा में पूर्ण करने के लिए विभाग के अनुविभागीय अधिकारी से लेकर मुख्य अभियंता तक के अधिकारियों को कार्य की राशि अनुसार आवश्यक जिम्मेदारी सौंपी गयी।
    लोक निर्माण मंत्री श्री मूणत ने विभागीय अधिकारियों को बताया कि अभी लोक सुराज अभियान के तहत मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का राज्य भर में भ्रमण होगा और वहां शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं तथा कार्यक्रमों के बारे में समीक्षा भी की जाएगी। इसके मद्दे नजर अधिकारी अपने-अपने क्षेत्र में विभागीय कार्यों के सु-व्यवस्थित संचालन पर सतत निगरानी रखें और मुख्यमंत्री की समीक्षा बैठक में विभाग के संबंधित जिम्मेदार अधिकारी अनिवार्य रूप से उपस्थिति सुनिश्चित करें। श्री मूणत ने मुख्यमंत्री के प्राथमिकता वाले कार्यों को समय-सीमा में गुणवत्ता के साथ पूर्ण कराने के लिए अधिकारियों को आवश्यक जिम्मा भी सौंपा। इसके तहत 50 लाख रूपए तक की राशि के निर्माण कार्यों की देख-रेख के लिए लोक निर्माण विभाग के अनुविभागीय अधिकारी को जिम्मेदारी दी गई। इसी तरह 50 लाख रूपए से अधिक राशि से लेकर एक करोड़ रूपए तक की राशि के निर्माण कार्यों का दायित्व कार्यपालन अभियंता, एक करोड़ रूपए से अधिक राशि से लेकर तीन करोड़ रूपए तक की राशि के निर्माण कार्यों का दायित्व अधीक्षण अभियंता और तीन करोड़ रूपए से अधिक राशि से लेकर 25 करोड़ रूपए तक की राशि के निर्माण कार्यों की निगरानी के लिए मुख्य अभियंता को दायित्व सौंपा गया। इसके तहत मुख्य अभियंता अपने-अपने क्षेत्र में प्रत्येक माह अधीनस्थ अभियंताओं की समीक्षा बैठक लेंगे और निर्माण कार्यों की प्रगति के बारे में विभाग प्रमुख कार्यालय को नियमित रूप से जानकारी उपलब्ध कराएंगे। समीक्षा के दौरान किसी निर्माण कार्य में कोई समस्या आ रही हो तो संबंधित अधिकारी उसके निराकरण के लिए भी आवश्यक पहल करेंगे।
    श्री मूणत ने सभी विभागीय अधिकारियों को निर्माण कार्यों की गुणवत्ता पर भी निगरानी रखने के लिए सख्त निर्देश दिए। इसके तहत उन्हें निर्देशित किया कि वे अपने-अपने क्षेत्र में नियमित रूप से भ्रमण करें और निर्माणाधीन कार्यों का मौका निरीक्षण कर गुणवत्ता पर भी निगरानी रखें। निर्माणाधीन कार्यों को कार्य योजना के अनुरूप गति देने के लिए विशेष ध्यान दें। श्री मूणत ने इनमें अनावश्यक विलम्ब तथा लापरवाही बरते जाने पर संबंधित विभागीय अधिकारी के साथ-साथ ठेकेदार के खिलाफ भी कार्रवाई होने के निर्देश दिए। उन्होंने कार्यों को गति देने के लिए अधिकारियों को समय पर ड्राइंग डिजाइन, स्थल निरीक्षण तथा निविदा आदि की प्रक्रियाओं को पूर्ण करने निर्देशित किया। उन्होंने मुख्यमंत्री की प्राथमिकता वाले कार्यों में लंबित भू-अर्जन की कार्रवाई को माह अपै्रल तक हर हालत में पूर्ण करने निर्देश दिए। इसी तरह लोक निर्माण विभाग के अंतर्गत स्वीकृत सभी कार्यों के लंबित निविदा की प्रक्रिया को माह मई तक हर हालत में पूर्ण करने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने संबंधित मुख्य अभियंता और अधीक्षण अभियंता को इसके लिए आवश्यक जिम्मा भी सौंपा। बैठक में छत्तीसगढ़ सड़क विकास प्राधिकरण, एशियन विकास बैंक के मद तथा लोक निर्माण विभाग के अंतर्गत निर्माणाधीन सड़क, भवन तथा सेतु के कार्यों की प्रगति के बारे में विस्तार से समीक्षा की गई। इस अवसर पर लोक निर्माण विभाग के सचिव श्री सुबोध कुमार सिंह, छत्तीसगढ़ सड़क विकास प्राधिकरण के विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी श्री अनिल राय, लोक निर्माण विभाग के प्रमुख अभियंता श्री डी.के. प्रधान सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।